Sunday, March 8, 2015

कुछ लोग थे पेशे में जिन्हें देख पत्रकार होना चाहा मैं....!

पत्रकार विनोद मेहता का निधन
--------------
तुम्हारे जाने के बाद भी हम लड़ेगे, साथी। दीया और तुफ़ान की जंग यह जारी रखेंगे, साथी...!!!  
----------------------------
आपकी स्मृति के बिंब 

Post a Comment

हमने जब भी पाया, पूरा पाया...!

अपने मित्र डाॅ. लक्ष्मण प्रसाद गुप्ता का चयन इलाहाबाद केन्द्रीय विश्वविद्यालय में  सहायक प्राध्यापक (हिन्दी) के पद पर  होने की खुशी मे...