कुछ लोग थे पेशे में जिन्हें देख पत्रकार होना चाहा मैं....!

पत्रकार विनोद मेहता का निधन
--------------
तुम्हारे जाने के बाद भी हम लड़ेगे, साथी। दीया और तुफ़ान की जंग यह जारी रखेंगे, साथी...!!!  
----------------------------
आपकी स्मृति के बिंब 

Post a Comment

Popular posts from this blog

‘तोड़ती पत्थर’: संवेदन, संघात एवं सम्प्रेषण

उपभोक्ता-मन और विज्ञापन बाज़ार की उत्तेजक दुनिया

भारतीय युवा और समाज: