महाआफत है वर्फबारी...विश्व का एक बड़ा हिस्सा हो सकता है ‘ममी’ में तब्दील

-------------

यह बात सौ फीसद झूठ है। इस पर जरा भी विश्वास न करें। लेकिन मैं शोध-विद्याार्थी हूं ऐसी उपकल्पना यानी हाइपोथीसिस पर विचार तो कर ही सकता हूं।

शुभ-रात्रि!
Post a Comment

Popular posts from this blog

‘तोड़ती पत्थर’: संवेदन, संघात एवं सम्प्रेषण

उपभोक्ता-मन और विज्ञापन बाज़ार की उत्तेजक दुनिया

भारतीय युवा और समाज: