Thursday, January 22, 2015

जन-प्रतिनिधि

--------------------
 मैं ही गांधी, मैं ही भगत...और मैं ही सुभाष चन्द्र बोस
---------

जो भूखा है
जो नंगा है
जो गरीब है
जो जरूरतमंद है

वह कहां जन-प्रतिनिधि है?

अतः मतदान से पहले
अपने नाम का परचे भरो
चुनाव लड़ो

देशवासियों, मुल्क आजाद है
अपने किस्मत का मालिक खुद बनो!!!
Post a Comment

हमने जब भी पाया, पूरा पाया...!

अपने मित्र डाॅ. लक्ष्मण प्रसाद गुप्ता का चयन इलाहाबाद केन्द्रीय विश्वविद्यालय में  सहायक प्राध्यापक (हिन्दी) के पद पर  होने की खुशी मे...